Home Blog

[कोर्स] ITI Full Form in Hindi, आईटीआई का फुल फॉर्म?

1

[[ti Full Form/आईटीआई फुल फॉर्म – अगर आप एक स्टूडेंट हो तोह अपने ITI(आईटीआई) का नाम तोह जरूर सुना ही होगा। आई टी आई(ITI) शब्द इंडिया में काफी पॉपुलर, खास कर स्टूडेंट के जुबान पर ITI शब्द ज्यादा सुनने को मिलता है। लेकिन क्या आपको ITI Ka Full form और  आईटीआई क्या है पता है। अगर आपको आई टी आई के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं  तोह इस आर्टिकल में आपको मैं ITI Full Form in Hindi में बताने वाला हु और साथ साथ आईटीआई क्या है यह भी बताऊंगा।

ITI Full Form

अगर आपका 10th और 12th क्लास कम्पलीट हो चूका हे और अब आप कई अच्छी कोर्स करके अपनी Career को सही दिशा में ले जाना चाहते हो तोह आप आईटीआई कोर्स (ITI Course) के बारे में सोच सकते हो। आईटीआई कोर्स करके आप अपनी खुद का Business भी खोल सकते हो या फिर आप सरकारी और प्राइवेट कंपनीस में नौकरी भी कर सकते हो। आईटीआई कॉलेज में स्टूडेंट को उनके सब्जेक्ट के हर चीज़ को इतनी बारीकी से समझाया और सीखया जाता है की वह किसी भी जगे काम कर सकते हे, चाहे वह जॉब(job) करे या अपनी बिज़नेस(business) चलाये।

आई टी आई कोर्स  करने से पहले आपको आईटीआई के बारे में  पूरी जान लेना चाहिए , जैसे की  – ITI Ka Full form(आईटीआई का फुल फॉर्म), आईटीआई क्या है, आईटीआई कोर्स, आईटीआई एडमिशन कैसे होते हे इनके बारे में जानकारी होना चाहिए। इस आर्टिकल में आपको मैं इन्ही सब चीज़ो के बारे में बताऊंगा और आपको उनसब वेबसाइट का लिंक भी दूंगा जिनकी जरुरत आपको पढ़ेगा।

ITI Full Form in Hindi – आईटीआई का फुल फॉर्म

ITI Full Form होता है – Industrial training institute. अगर आपको लगता है की आईटीआई कोर्स का मतलब सिर्फ एक कोर्स सिर्फ एक कोर्स है तोह आप गलत हो। ITI एक तरह  शिक्षा संस्थान (education institution) का नाम है, आप आईटीआई को कॉलेज (College) भी केह सकते हो। आईटीआई शिक्षा संस्थान में लोगो को उद्योग संबंधी (Industrial) काम का प्रशिक्षण दिया  है। आईटीआई कोर्स को कम्पलीट करने के बाद आप उद्योग संबंधी कंपनीस में काम के लिए अप्लाई कर सकते हो।

 ITI Full Form – Industrial Training Institute

I  Industrial
T Training
I Institute

आईटीआई कॉलेज में आपको बहुत सरे कोर्स मिलता हे, आप अपनी हिसाब से आईटीआई कोर्स चुन सकते हो। आईटीआई कोर्स (course) सिर्फ जॉब पाने के लिए ना चुने,  आपको जिस काम में रुचि (Interest) है उसे से रिलेटेड ITI कोर्स चुने। अगर आप रुचि (Interest) ना होने के बावजूद भी सिर्फ लालच में  किसी कोर्स को चुनते हो तोह उस काम को सही से शीख नहीं पाएंगे और ना ही किसी कंपनी आपको नौकरी देगी।

ITI Course List – आईटीआई कोर्स लिस्ट

निचे मैंने कुछ आईटीआई कोर्स का लिस्ट और कोर्स कितने साल का है वह बताया है। इसके एलबा और भी बहुत सरे आईटीआई कोर्स है स्थान(location) के हिसाब से –

1. Electrician 2 years
2. Fitter 2 years
3. Carpenter 2 years
4. Foundry Man 1 years
5. Book Binder 1 years
6. Plumber 2 years
7. Pattern Maker 2 years
8. Mason Building Constructor 1 years
9. Advanced Welding 2 years
10. Wireman 1 years

ITI Course Advantages – आईटीआई कोर्स करने का फायदा

  1. आईटीआई का सबसे बढ़ा फायदा यह है की इसमें आपको बहुत सरे कोर्स मिल जाता है। आप अपनी रुचि के हिसाब से आईटीआई कोर्स चुन सकते हो।
  2. आईटीआई कौसे करने के लिए आपको सिर्फ 8th पास होना चाहिए। यह भी आईटीआई कोर्स का एक फायदा।
  3. आई टी आई कोर्स कम्पलीट करने में सिर्फ 2-3 साल लगता है। कुछ कोर्स तोह ऐसे भी है जो सिर्फ 6 महीने में कम्पलीट है।
  4. उसमे जो कोर्स में उनको करने का खर्च  बहुत ही काम है। इस लिए कई भी Iti course को कर सकते है।
  5. आईटीआई के बाद आपको बहुत ही आसानी से जॉब मिल जाता है।

इस आर्टिकल में आपको मैंने Iti Ka Full Form (आईटीआई फुल फॉर्म),  ITI Course List (आईटीआई कोर्स लिस्ट), ITI Course Advantages (आईटीआई कोर्स करने का फायदा) के बारे में बताया है। अगर आपको Iti full form या इसे  संबधित कई और जानकारी चाहिए  तोह निचे  कमेंट करके जरूर बताय। आईटीआई के बारे में और जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़े – WikiPedia

CIF Number क्या होता है, CIF Full Form क्या होता है ?

क्या आप CIF Number क्या होता है जानते हो, नहीं जानते हो तोह कई बात नहीं मैं आपको बताऊंगा की CIF क्या होता है। आप IFSC Code के बारे में तोह जानते ही होंगे, लेकिन ऐसे बहुत काम लोग देखने को मिलता है जो Cif Number Means के बारे में जानते हो। कारन चाहे जो भी हो इस पोस्ट पर हम What is CIF Number in Hindi में जानेंगे।

सीआईएफ नंबर के बारे में लोग ज्यादा इस लिए नहीं जानते क्योंकि यह नंबर साधारण बैंकिंग लेनदेन में यूज़ नहीं होता है। ऐसे बहुत ही कम काम होते है जिसमे आपको सीआईएफ नंबर एंटर करना पड़ता है। जिसमे से एक है Bank Account Transfer. अगर आप अपनी बैंक अकाउंट को एक शाखा से दूसरे शाखा में ट्रांसफर करना चाहते हो तोह आपको सीआईएफ नंबर देना पड़ता है।

"<yoastmark

बैंक अकाउंट ट्रांसफर करने के अलावा एक और काम है जिसके लिए आपको सीआईएफ नंबर की जरुरत पड़ता है, वह है Net Banking Activate करते टाइम। जी हा जब आप ऑनलाइन नेटबैंकिंग एक्टिवटे करने जाओगे तब आपको सीआईएफ नंबर डालना होगा। निचे मैं What is cif number, cif number means और cif full form क्या होता बताया है।

What is CIF Number – सीआईएफ नंबर क्या होता है

बैंकिंग सिस्टम में जो कोड (CIF, IFSC, SWIFT) यूज़ होते है उनमे अलग अलग तरह के जानकारी स्टोर रहता है। Cif कोड पर जो जानकारी स्टोर रहता है वह आपकी पर्सनल जानकारी, जैसे की आपका नाम, एड्रेस और बैंक अकाउंट डिटेल्स। जब बैंक कर्मचारी आपके अकाउंट सीआईएफ नंबर बैंकिंग सिस्टम में डालते है तब उनको आपके सभी पर्सनल जानकारी मिल जाता है।

ऐसा नहीं की आपका कई नया जानकारी जो अपने बैंक को अभी तक नहीं दिया है वह भी CIF Number से बैंक के लोग देख पायेगा। इस नंबर से बैंक सिर्फ वही जानकारी को देख पाएंगे जो अपने बैंक को पहले से दे रखा है। जैसे मान लीजिये की आपने एड्रेस चेंज किया है, तोह आपके नई एड्रेस CIF नंबर से नहीं देखा जा सकता। इसके लिए आपको पहले अपनी नई एड्रेस को बैंक अकाउंट में अपडेट करना हॉग। यह भी पढ़े –  IFSC Code क्या होता है

Cif Full Form, सीआईएफ फुल फॉर्म

बैंक CIF Full Form होता है Customer Information File. कस्टमर इनफार्मेशन फाइल में बैंक अकाउंट धारक के सभी जानकारी रहता है।

C Customer
I Information
F File

सीआईएफ नंबर के बारे में और जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़े – sbi cif number पता करे

इस आर्टिकल पर मैंने Cif Number Means aur Cif Full Form के बारे में बताया है। अगर आपको किसी और चीज़ के बारे में जानना है तोह निचे कमेंट करके बताय।

Lol Meaning in Hindi और Lol Ka Matlab क्या होता है।

अगर आप फेसबुक और व्हाट्सप्प यूज़ करते हो तोह आपने LOL शब्द का यूज़ कभी ना कभी जरूर क्या ही होगा, अगर अपने अभी तक लोल (lol) का यूज़ नहीं क्या है तोह दुसरो को LOL का प्रयोग करते हुए तोह जरूर देखा ही होगा। लेकिन क्या आपको Lol Meaning in Hindi में  पता है। अगर आपको नहीं पता की lol ka matlab क्या होता है तोह अच्छा हुआ की अपने अभी तक इस शब्द का यूज़ नहीं क्या है। मैं लोगो को हमेशा कहता हु पहले लोल मीनिंग शब्द का मतलब पता करे उसके बाद यूज़ कीजिये।

सिर्फ LOL शब्द की बात नहीं है किसी भी शब्द का मतलब ना जाने उसको यूज़ नहीं करना चाहिए। इस आर्टिकल पर आपको मैं Lol Meaning Hindi, Lol ka matlabलोल मीनिंग, Meaning of lol in hindi, Lol means in hindi, Lol full form in hindi में क्या होता इस बारे में बताऊंगा।

Lol Meaning in Hindi
Lol Meaning in Hindi

अगर आपने “Tha Kapil Sharma Show” टीवी शो के फैन हे तोह अपने देखा होगा की उनके प्रोग्राम के कुछ भाग में LOL शब्द का भर पुर प्रयोग हुआ था। शो में कपिल LOL बोलकर सबका मजाक उड़ाते थे। ठीक इसी तरहा आप भी अपने दोस्त के किसी बात कर LOL बोल कर मजाक कर सकते हो।

LOL Full Form in Hindi

Lol full form बहुत ही आसान है। लोल का फुल फॉर्म होता है – Laughing Out Loud। निचे आप देख सकते जो –

L Laughing
O Out
L Loud

Lol Meaning in Hindi- लोल मीनिंग

Lol शब्द का मतलब बहुत ही साधारण है। जैसे की अपने देखा LoL कई एक शब्द नहीं है, यह एक शार्ट फॉर्म है जो 3 शब्द मिलकर बनता है। Laughing Out और Loud शब्द के पहला वर्ड को मिलाकर LoL शब्द बनता है। इसका मतलब होगा है जोर से हसना। जब आपको किसी चीज़ को देखकर बहुत ज्यादा हसी आ रहा तोह आप LoL का इस्तेमाल हो।

जैसे की फेसबुक/व्हाट्सप्प के किसी वीडियो या फोटो को देखकर आपको बहुत ज्यादा हसी आ रहा हे तोह आप उस वीडियो के निचे lol लिखकर अपनी हँसी लोगो को देखा सकते हो। सिर्फ फेसबुक और व्हाट्सप्प पर ही नहीं आप असली दुनिया में नहीं लोल का यूज़ कर सकते हो। किसी दोस्त के हरकत को देखकर आपको हसी आ रहा हे तोह आप LoL बोलकर उसका मजाक उड़ा सकते हो।

एक बात का हमेशा धेन रखे की मजाक हमशा लिमिट में ही अच्छा लगता है। अगर आपके LOL बोलने पर कई आहात होता है तोह आप उनसे माफ़ी जरूर मांगले।

मुझे उम्मीद है की Lol meaning in hindi में क्या होता आपको पता लग गया होगा। फिर भी अगर आपको कई सवाल रह गया है तोह निचे कमेंट में लिखकर बता सकते हो।

पॉलिटेक्निक कोर्स, What is Polytechnic in Hindi?

0

हमारे देश में आज भी लोग 10th और 12th के बाद कोन से कोर्स करे, किस फील्ड में अच्छी जॉब ऑपर्चुनिटी है, कोन से कोर्स करने पर आगे जाकर हमें एक अछि करियर मिल सकता है इनसब चीज़ो को लेकर उलझन में पढ़ जाते है। आज इस आर्टिकल में आपको एक ऐसे ही कोर्स के बारे में बताऊंगा जिसको आपको 10th और 12th के बाद कर सकते हो और एक आछा कैरियर बना सकते हो। मैं जिस कोर्स की बात कर रहा हु वह है पॉलिटेक्निक कोर्स (polytechnic courses). पॉलिटेक्निक कोर्स एक बहुत ही पॉपुलर कोर्स है, जिसको करने के बाद आप जॉब भी कर सकते हो या फिर डिग्री के लिए B-Tech डायरेक्ट सेकंड ईयर में एडमिशन ले सकते हो।

पॉलिटेक्निक कोर्स - What is Polytechnic in Hindi
पॉलिटेक्निक कोर्स

आज इस आर्टिकल में आपको पॉलिटेक्निक कोर्स की जानकारी देने वाला हु, जैसे की- what is polytechnic in hindi, Polytechnic course kya hota hai, Polytecnic course admission ke liye qualification hona chahiye, Polytechnic course karne ke faide aur Polytechnic course karne ke bad kya kare इनसब चीज़ो के बारे में बतऊँगा।

पॉलिटेक्निक कोर्स – What is Polytechnic in Hindi ?

पॉलिटेक्निक कोर्स का मतलब कई एक कौसे नहीं है, इसमें ढेर सरे कोर्स होते है। आप अपनी इंटेरेस्ट के हिसाब से  polytechnic courses चुन सकते हो। Polytechnic course एक डिप्लोमा कोर्स है. Politechnic कोर्स में आपको किसी चीज़ के बारे में डिटेल में समझाया जाता है। आपको जिस बिषय में इंटरेस्ट हो उसे रिलेटेड सब्जेक्ट चूसे करे।

पॉलिटेक्निक कोर्स एडमिशन (polytechnic course admission) के बाद आपको कॉलेज की तरह क्लास अटैंड करना होगा। जिसमे आपको अपनी विषय पर पूरी डटिल में प्रक्टिकली समझाया जाता है, ताकि आप आगे जाकर इस विषयपर पर अपनी करियर बना सकते। इसे पहले की आप polytechnic course me admission के लिए जाओ आपको पॉलिटेक्निक के बारे में कुछ चीज़े जानना जरूरी है –

पॉलिटेक्निक का मतलब – Polytechnic Meaning Hindi  

ज्यादा तर लोगो को polytechnic का मतलब या मीनिंग पता नहीं होगा। पॉलिटेक्निक (PolyTechnic) दो शब्द से बना हुआ है – Poly+Technic. Poly का मतलब होता है बहुत/अलग अलग चीज़े और Technic का मतलब होता है तकनीकी, कला। एक लाइन में polytechnic course का मतलब होता है – एक जगे पर अलग अलग तरह का टेक्निक सिखाया जाना। आप समझ ही गए होंगे की पॉलिटेक्निक कॉलेज में सिर्फ एक तरह का टेक्निक नहीं सिख्या जाता, यह पे स्टूडेंट्स को अलग अलग तरह के टेक्निक सिखने को मिलता है.

पॉलिटेक्निक एडमिशन योग्यता – Polytechnic Courses Admission Qualification

पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन पाने का क्वालिफिकेशन क्या होना चाहिए इसको लेकर लोगो में उलझन है। लोगो से पूछने जाओगे तोह लोग अलग अलग तरह के बता कहेंगे। पॉलिटेक्निक में एडमिशन पाने के लिए आपको 10th या 12th पास होना होगा। सिर्फ पास होने से पॉलिटेक्निक में भर्ती नहीं मिलेंगे, 10th क्लास में 35% से ज्यादा मार्क्स होना चाहिए।

Polytechnic Courses List After 10th and 12th – Best Polytechnic Courses

List 1

List 2
Automobile Engineering Chemical Engineering
Civil Engineering Computer Engineering
Computer Science and Engineering Electrical Engineering,
Electronics and Communication Engineering Industry Integrated Electrical
Electronics Engineering Electronics and Telecommunication Engineering
Fashion Design Food Technology
Garment Technology Information Technology
Instrumentation Technology Decoration Leather,
Technology Leather Technology Mechanical Engineering
Marine Engineering Medical Laboratory
Textile Processing Textile Technology Industrial Engineering
Technology Plastic Technology Production

Polytechnic Admission Ke Liye Test Exam Dena Padta Hai

पॉलिटेक्निक में एडमिशन के लिए आपको CET – Common Entrance Test देना पड़ता है।  CET एग्जाम में पास होने के बाद पॉलिटेक्निक एडमिशन मिलता है. Common Entrance Test सिर्फ पास होने से काम नहीं बनेगा, एक अछि पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन के लिए CET एग्जाम में आछे Percentage से पास भी करना होगा। अगर  polytechnic entry admission एग्जाम CET में अच्छे पर्सेंटेज नहीं आता है ओह उसको Best Government College admission नहीं मिलेंगे। उसको किसी प्राइवेट पॉलीटेचिन्स कॉलेज में एडमिशन लेना होगा।

पॉलिटेक्निक कोर्स फीस – Polytechnic Course Fees 

पॉलिटेक्निक कोर्स करने के लिए आपको थोड़ा पैसे तोह खर्च करना ही होगा। अलग अलग पॉलिटेक्निक कॉलेज के फीस अलग अलग होता है। गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज फीस प्राइवेट कॉलेज से काम होता है। लेकिन कुछ गिने चुने लोगो को ही गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन मिलते है, खासकर उनको जो CET से अचे मार्क्स से पास हुए है। गोवेर्मेंट कॉलेज के एलबा आप प्राइवेट पॉलिटेक्निक कॉलेज में भी पॉलिटेचिन्स कोर्स कर सकते हो, इसको लिए आपको कुछ ज्यादा फीस देना होगा।

Government Polytechnic College Fees 10,000 – 15,000/6 months
Private Polytechnic College Fees 30,000 – 50,000/6 months

पॉलिटेक्निक के बाद क्या करे – पॉलिटेक्निक के बाद जॉब

पॉलिटेक्निक करने के बाद आपके पास बहुत सरे options होते है। आगे आप पढाई भी कर सकते हो और जॉब भी कर सकते हो। ऐसे बहुत सरे कंपनीस है जो पॉलीटेचिक के स्टूडेंट्स को हेयर/Hire करता है। polytechnic course कम्पलीट करने के बाद आपको बाहर इंडस्ट्री में भी जॉब मिल जायेगा।

नौकरी के एलबा पॉलिटेक्निक करने के बाद आप आगे Higher Education के लिए भी जा सकते हो। आप जिस विषय में पॉलिटेक्निक कोर्स किये हो उसी विषय में आप बी-टेक कर सकते हो. पॉलिटेक्निक करने के बाद आपको B-Tech के second year में एडमिशन मिल जायेगा। और जानने के लिए इस आर्टिकल पढ़े – read more.

पीएचडी क्या है- What is Phd in Hindi ? PhD Full Form

0

पीएचडी क्या है – हर स्टूडेंट का सपना होता है की वह अपनी सब्जेक्ट/बिषय पर पूरी जानकारी हासिल करे। लेकिन ज्यादा तर लोग ग्रेजुएशन(Graduation) के बाद ही अपनी पढाई छोड़ देते है। लोगो को पता ही नहीं होता की किसी बिषय को पूरी तरह जानने के लिए और सिखने के लिए उनको कहा तक पढता चाहिए।

आज इस आर्टिकल में आपको एक ऐसे ही डिग्री के बारे में बताऊंगा जिसको पढ़ने के बाद आप अपनी सब्जेक्ट/बिषय पर एक्सपर्ट बान जायेंगे, मेरे कहने का मतलब आप उस बिषय के बारे में पूरी तरह जान जायेंगे। मैं जिस डिग्री/कौसे की बात कर रहा हु वह है PHD Degree/पीएचडी डिग्री। इस आर्टिकल में आपको मैं पीएचडी क्या है, phd full formp.hd/phd admissionphd feesphd course details, what is phd in hindi में बताऊंगा।

पीएचडी क्या है
पीएचडी क्या है

P.hd Degree/पीएचडी किसी बिषय पर सबसे हायर डिग्री कोर्स है। P.hd Degree करने के बाद आप अपनी बिषय पर एक्सपर्ट केहलाते हैँ। लेकिन इस डिग्री को कम्पलीट करना इतना आसान नहीं है। अगर आप phd admission लेना चाहते हो मतलब की पीएचडी करना चाहते हो तोह आपको 10th के बाद से ही तैयारी करना होता हो, इसे phd admission बहुत आसान हो जाता है।

पीएचडी डिग्री करने के बाद आपके नाम के आगे Dr. लगता है। यह डॉ. का मतलब टीटमेंट करने वाला ड्रॉ नहीं होता, इस का मतलब होता है वह अपनी बिषय पर Phd डिग्री क्या है और वह उस बिषय पर एक एक्सपर्ट है। आपने देखा होगा बढे बढे बिज़नेस मैन, साइंटिस्ट, राइटर के नाम के आगे डॉ. लगा होता है। इसका मतलन उन्होंने p.hd compete क्या है।

इसे पहले की आप आप पीएचडी करने के बारे में सोचे आपके पास phd information होना चाहिए, जैसे की- Phd/पीएचडी कैसे करेphd admission qualificationphd course detailsphd fees के बारे में बता होना चाहिए।

पीएचडी क्या है – What is PhD in Hindi

यह पीएचडी कोर्स एक हाईएस्ट डिग्री कोर्स है। इस डिग्री कोर्स को करने के बाद आप कॉलेज में पढ़ा सकते हो, किसी चीज़ के ऊपर अनुसंधान(research) कर सकते हो। जब आप किसी बिषय पर p.hd कर लेते हो तब आप उस बिषय का एक विशेषज्ञ(specialist) बान जाते हो और आपके नाम के आगे Dr. लग जाता है. अपने बहुत सरे बुक पर ऑथर नाम के आगे DR. लिखा हुआ देख होगा, इस Dr का मतलन उन्होंने पीएचडी किया है। पीएचडी के बारे में और जानने के लिए विकिपीडिया की यह आर्टिकल पढ़े – wikipedia

लेकिन Phd कम्पलीट करना इतना आसान भी है, इसके लिए आपको स्कूल, कॉलेज और पोस्टग्रेजुएट कम्पलीट करना होगा। इन तीनो जगे सिर्फ पास होने से काम नहीं बनेगा आपको 60+ percentage से पास भी करना होगा, इसके बाद ही आप Phd admission के लिए योग्य होंगे। इसके बाद आता है Phd admission process.

P.hd कोर्स 3 का होता है। इन तीन सालो में आपको अपनी बिषय पर पूरी जानकारी दिया जाता है. निचे मैं पीएचडी लिस्ट दे रहा हु –

PhD Course Details List

Agriculture Extension, Science and Technology , Biochemistry, Chemistry, Civil Engineering, Commerce, Computer Science, Economics, English, Extension & Development Studies, Vocational Education, Translation Studies etc.

पीएचडी फुल फॉर्म  – Phd Full Form

Phd Full Form होता है Doctor of Philosophy (डॉक्टर फिलॉसोफिए).

पीएचडी एडमिशन का योग्यता – P.hD/Phd Admission Qualification

योग्यता की बात करे तोह पीएचडी करने के लिए आपके पास मास्टर्ड Master’s degree होना चाहिए। Masters डिग्री उसे बिषय पर कम्पलीट करना होगा जिस पर आप पीएचडी डिग्री करना चाहते हो। अगर कई सीरियस्ली पीएचडी करना चाहता है तोह उनको 10th के बाद से किसी एक सब्जेक्ट पर फोकस करके पढ़ना चाहिए। 12th के बाद ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन करना होता है, इससे phd admission मिलने के चांस बढ़ जाता है।

पीएचडी एडमिशन फीस – PhD Fees

PhD Fees कॉलेज के हिसाब से अलग अलग होता है. आप जिस कॉलेज से पीएचडी करके बारे में सोच रहे हो आप पेर्सनली कॉलेज में जाकर या नेट पर उस कॉलेज का फीस चेक कर सकते है। पीएचडी कोर्स फीस का एवरेज  लगवग 1.5 लख से 3 लाख तक का खरच आया सकता है।

पीएचडी करने के फायदे

  1. पीएचडी करने के बाद आप कॉलेज ज्वाइन करके स्टूडेंट को पढ़ा सकते हो।
  2. आप किसी चीज़ पर ररिसर्च कर सकते हो।
  3. पीएचडी कम्पलीट करते ही आपके नाम के आगे Dr लग जाता है।
  4. जब आप किसी बिषय पर PhD Degree कम्पलीट करते हो तब आपको उसके बारे में पूरी जानकारी होता है।

MBBS Full Form – एमबीबीएस की फुल फॉर्म क्या है ?

0

Mbbs Full Form/एमबीबीएस फुल– Mbbs sirf india me nhi puri duniya ke sabse jada popular medical course me se ek hai. Jo log doctor banne ki chahat rakhte hai unko MBBS ka degree hasil karna padhta hai. Lekin kya aapko pata hai ki Mbbs hota hai, Mbbs full form meaning, Mbbs course ka kharcha aur Mbbs course karne me kitna time lagta hai. Aaj is article me main aapko inhi sab chizo ke bare me bataunga.

MBBS Full Form

MBBS ki padhi karne wala student ko society me ek alag hi respect diya jata hai. Aur denge bhi kyun nehi, Mbbs course karne me itna mehnat jo karni padti hai. Agar kyi mbbs karne ka soch raha hai toh usko 10th ke bad se hi teyari karni padti hai. 10th class ke bad jitne bhi students mbbs karne ka sapna dekhte hai unme se 90% students mbbs nhi kar padhe hai.

Kyon ki Mbbs karne liye students ko kadee(कड़े) mehnat karna padta hai aur acha khasa paisa bhi kharcha karna padta hai. Agar kyi mbbs karna chahta hai toh usko 10th ke bad Biology, Chemistry aur Physics yeh 3 subject leni hi hogi aur achi Percentage se pas bhi karna hoga 12th class me. Agar kisi ke pas yeh sab chiz hai aur woh Mbbs College me admission lena chahta hai toh usko NEET ki teyari karna padhega. NEET medical college me admission lene ka ek entry exam hai. Is exam ko pass karne ke bad hi aap Medical College me admission le payenge.

MBBS Full Form in Hindi

MBBS ki full form hota hai- Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery. Yeh Medical education ka graduate degree hai. Doctor banne ke liye aapko is Mbbs course ko pass karna hoga. Is course ko complete karte hi aapke naam ke sath Dr. shabd jud jata hai.

UK(यूनाइटेड किंगडम) ke education system ko jo desh follow karte hai un countres me MBBS ka dugree diya jata hai. India me Government aur Private dono tarah ke Medical college upalabdh(उपलब्ध) hai.

Mbbs Course Karne Ka Qualification- Mbbs padhne ke liye student ko 12th class me Biology, Chemistry aur Physics subject me pass karna hoga. Sirf pass hone se hi kam nhi banega, aapko achi percentage bhi hasil karna hoga, kam se kam 50% number hona hi chahiye. Agar aapke pas yeh sab chize hai toh aapko ek Exam dena hoga jo Medical College entry exam hai- NEET.

MBBS Course Karne Me Kitna Samay Lagta Hai- MBBS course karne me 5 years 6 months ka samay lagat hai. Aap mbbs ki padhai kahi se bhi kare aapko 5 years 6 months ka time lagta hai ki. Mbbs course complete karne ke bad aapko 1 saal ka Internship karna hoga.

Mbbs course ka kharcha- Agar aap mbbs course karne ki soch rahe ho toh aapko MBBS Course karne me kitna kharcha aata hai iska andaja hona chahiye. India me MBBS karne ke liye do tarah ka college majud hai- Government Medical College aur Private Medical College. Government medical college se mbbs karne ke liye aapko 50,000-100,000 rupee tak ki fee dena padta hai. Sabse kam fee hota hai AIIMS(All India Institutes of Medical Sciences) ka hota hai- 1000-2000 rupee per year. Lekin AIIMS me admission pana bahut hi muskil hai.

Aur private medical college ki baat karu toh har saal 10-15 lacks rupee fee lagte hai Private Medical college se mbbs karne ke liye. Also read- Iti full form hindi

Toh friends is article me aapko Mbbs ke bare me bataya hai, jese ki Mbbs Mbbs ki Full Form, Mbbs kaise kare, Mbbs karne me kitna kharch aata hai. Aagr aapko mbbs ke bare me kyi bhi jankari chahiye toh niche comment karke jaroor batay. Is article ko padhne ke liye bahut bahut Dhanyawad. Mbbs ke bare me aor janne ke liye yeh article padhe- Medical college in India- wikipedia

ROM Full Form in Hindi, रोम का फुल फॉर्म

0

ROM Full Form Meaning Hindi –  Mobile aur Computer ki tarah lagvag sabhi Electronic device ROM ka use hota hai. Kisi bhi device ke sahi se kam karne ke liye ROM ka hona bahut jaroori hota hai. Lekin jada tar log Ram and Rom full form bhi nehi jante. Is liye is article me aapko Rom full form, Rom Types aur Rom meaning hindi me bataunga.

ROM full form
ROM full form

Piche article me main aapko RAM ka full form bataya tha, agar apne nhi padhi hai toh yeha se padh sakte ho – RAM Full Form in Hindi. Logo me rom aur ram ke bich bahut hi confusion hai. Is article me aapke Rom ko lekar jitne bhi confusion hai woh door karne ki koushish karunga.

ROM Full Form Hindi – रोम फुल फॉर्म

Rom ka full form hota hai – Read Only Memory. Isko Read only memory is liye kaha jata hai kyon ki jada tar case me is memory ko sirf read karne ke liye hi use kya jata hai.

Full Form of ROM – Read Only Memory

ROM in Hindi, रोम क्या है ?

Jese ki upar aapko bataya ROM ki full form hota hai Read Only Memory. ROM ek tarah ka NON Volatile Memory hai. Yeh is liye use kya jata hai taki kuch special functions sahi se kam kare. ROM computer, Mobile aur others electronic device me use kya jata hai. ROM ke andar jo Data hota hai usko hum change nhi kar sakte aur agar kar bhi lete ho toh woh tarika bahut hi hard aur slowly hota hai.

Jese ki aapko bataya ROM par Program data store rehta hai aur ROM ke data ko asani se change nhi kar sakte. Is liye ROM par sirf wohi Data store kya jata hai jisko bar bar change karne ki jarurat na padhe.

Types of ROM – रोम का प्रकार

साधारण रूप से रोम प्रकार के होते है – 1. PROM – Programmable Read Only Memory  2. EPROM – Erasable programmable read-only memory  3. EEPROM- Electrically erasable programmable read-only memory  4. CD Rom – Compact Disk Read Only Memory

  • PROM Prom Full Form hota hai Programmable Read Only Memory. P ROM ko sirf ek bar hi Programme kya ja sakta hai. Is types ke rom ko Programme ek special device ke madat se kiya jata hai, jisko P ROM programmer bolte hai.
  • EPROM- Eprom full form hota hai Erasable programmable read-only memory. Is types ke rom ko dubara se Programme kya ja sakta hai. Eprom par strong Ultraviolet Light proyog karke ROM date data ko clear aur dubara se programm kya ja sakta hai.
  • EEPROM- Eeprom full form hota hai Electrically erasable programmable read-only memory.

          EAROM- Earom full form hota hai Electrically alterable read-only memory.
          Flash Memory- yeh memory sabse latest EEPROM hai. Flash memory ke dusre sabhi tarah ke Rom se fastly programme ko clear karke reprogramme kiya ja sakta hai

  • CD – Compact Disk Read Only Memory.

Toh friends is article me aapko maine ROM Full Form Name, Rom Kya Hai aur ROM types ke bare me bataya hai. Agar aapko kisi aor chiz ke bare me janna hai toh niche comment karke bata sakte ho. Is article padhne ke liye bahut bahut Dhanyawad. More information visit Wikipedia.

RAM Full Form in Hindi, RAM Kya Hota Hai

0

हम जब भी कई मोबाइल और लैपटॉप खरीदने के लिए जाते है तब हम सबसे पहले उसमे Ram कितने GB का है देखते है। लेकिन क्या आपको रैम क्या होता है और Ram Full Form पता है। मैंने देखा है की ज्यादा तर लोगो को ram ka full form भी नहीं पता होता, लोग सिर्फ रैम कितने Gb का होता यह जानते है। 

आज के इलेक्ट्रॉनिक योग में रैम एक बहुत ही जरूरी चीज़ है। उसके जरूरी लगवग हर छोटे बढे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में पड़ता है। इस लिए हमे रैम के बारे में बेसिक जानकारी होना चाहिए, जैसे की ram full form in computer, ram full form in hindi और रैम फुल फॉर्म।

RAM Full Form

आपको बता दू की Ram और Rom दोनों अलग अलग चीज़ है। इस पोस्ट पर मैं आपको रैम क्या है और रैम का फुल फॉर्म बताऊंगा। और अगर आपको Rom के बारे में जानना है तोह इस इस आर्टिकल को पढ़े- Rom Ka Full form

रैम अलग अलग साइज और प्रकार के होते है होते है। जैसे की मोबाइल में लिए अलग तरह के रैम होता है और मोबाइल के लिए अलग तरह का रैम यूज़ होता है। लेकिन सभी डिवाइस पर रैम का बिलकुल  ही होता है।

Ram Full Form in Computer and Mobile.

रैम का फुल फॉर्म होता है- Random Access Memory। Ram ki Full Form हिंदी में होता है- यादृच्छिक अभिगम स्मृति

R Random
A Access
M Memory

RAM in Hindi, Ram Kya Hota Hai

जैसे की ऊपर मैंने आपको बताया की रैम का फुल फॉर्म होता है- Random Access Memory. यह नाम से आपको इतना तोह पता चल ही गया होगा की रैम एक तरह का मेमोरी हे। लेकिन यह मेमोनी आपके SD Card Memory की तरह नहीं होता है।

जब आप किसी Application/Software को मोबाइल/कंप्यूटर में ओपन करते हो तब Ram काम में आता है। लेकिन रैम में कई फाइल और एप्लीकेशन जमा नहीं होगा। जब भी आप किस फाइल या एप्लीकेशन को अपने सिस्टम में सेव करते है तब वह डिवाइस में नॉर्मल Hard Drive और SD Card में भी स्टोर होता है। इसके बाद जब आप किसी फाइल को अपनी डिवाइस में ओपन करते हो तब वह फाइल स्टोरेज से कॉपी हो कर रैम में चला आता है और रैम से CPU पर जाता है।

यह इस लिए होता है क्योंकि Ram हमारे नार्मल मेमोरी (हार्डडिस्क) से कई गुना फ़ास्ट होता है। अगर यह काम कई डिवाइस रैम के बगैर करेगा तोह वह डिवाइस बहुत ही स्लो होगा, इतना स्लो की आप उसको चला ही नहीं पड़ोगे। काम हो जाने के बाद जब आप Save करते हो तब वह फाइल कॉपी रैम से HardDisk पर चला आता है और सेव हो जाता है। और जब आप किसी एप्लीकेशन को डिवाइस से Close करते हो तब वह रैम पूरी तहा हैट जाता हे। यह भी पढ़े- UPS Full Form in Hindi.

जैसे की मैं आपको बताया की RAM बहुत ज्यादा फ़ास्ट होता है एक नार्मल हार्डडिस्क से शयेत इसी लिए रैम का प्राइस या बोले तोह रैम को बनाने की खर्चा बहुत ज्यादा होता है। एक 64GB नार्मल मेमोरी बनाने में जितना खर्चा आता है लगवग उतना ही खर्चा एक 1GB RAM बनाने में आता हे।

PC Full Form in FB and Computer Hindi

0

PC Full Form and Pc Meaning in Hindi– aap apne Daily Life me kabhi kabhi PC shabd toh suna hi. Aapko PC Meaning aur PC Full Form ke bare me kyi idea nhi hai lekin aapke dost ya office me bar bar is shabd ka use hota hai. Agar aap bhi kuch aise hi situation me ho toh, is article me main aapko PC Full Form aur PC Meaning in hindi me bataunga.

PC Full Form in Computer and Facebook

PC shabd do(2) jage use hota hai aur dono hi jage iska PC ka full form and meaning alag alag hai. Main jis do jage ki baat kar raha tha usme se ek hai Computer topic me aur dusra hai Facebook me. Computer category me jo PC shabd use hota hai- Pc full form in computer aur dusri jis jage Pc shabd use hota hai woh hai Facebook(social media).

What Is The Full Form of Pc in Computer

Computer topic par jis PC shabd ka use hota hai us Pc ka matlab hai- Personal Computer. Agar aapke pas ek computer hai jisko sirf aap hi use karte ho ya bol sakte ho ki sirf aapko hi use karne ki permission hai toh usko hum PC bol sakte hai. Also Read- Computer Full Form Hindi .

Full Form of Pc in Computer – Personal Computer

Sirf personal computer ko PC nehi bolte. Actually pc us computer ko kaha jata hai jisko ek time me ek hi person input de sakta hai- jese ki hamare ghar ya office ke normal computer. Aapke jankari ke liye bata du ki aise bhi bahut sare computer hai jisko ek sath bahut sare log input de sakte hai. Normally hum ghar ya chote chote office me jo computer dekhte hai, jisme ek CPU hota hai usko PC kaha jata hai.

PC Full Form in Facebook

Facebook aur Social media par jis PC shabd ka baat hota hai us PC ka full form hota hai- Photo Credits/Picture credits. Pc Full form in photography me bhi meaning same hi hota hai.

PC Full Form in Fb- Photo Credits/picture credits

Lekin yeh ‘Picture credit’ ka matlab kya hai. Agar main kisi dusre vakti ya company ka photo download karke apne Profile par upload karte ho aur sath me likhte ho ki Photo Credit ____ . Iska Matlab yeh ki aap jo photo use kar rahe ho woh aapka photo nhi hai, apne kaha se photo liya hai uska name photo par likh kar us Photo Owner ko aap credit de rahe ho. Also read- Lol meaning 

Is article me aapko PC Full Form in fb aur computer ke bare me bataya hai. Agar aapko kisi aor chiz ke bare me janna hai toh niche comment karke bata sakte ho. Is article ko padhne ke liye bahut bahut Dhanyawad.

Computer Full Form Hindi – कंप्यूटर फुल फॉर्म

0

Computer Full Form/कंप्यूटर फुल फॉर्म– computer insaan ka bana sabse advance machine hai. Hum log jo technology me itna aage badh paye hai yeh computer ke wajah se hi samvab ho paya hai. Lekin kya aapko Computer Full Form(कंप्यूटर फुल फॉर्म) pata hai, nhi na. Agar aapko Full form of computer ke bare me kyi idea nhi hai toh yeha pe main aapko Computer full form hindi and english me bataunga.

computer full form

Aaj hum jo bhi kam karte hai woh kisi na kisi rup se Computer ke sath juda huya hai. Sach baat toh yeh hai ki Computer ke bager aaj ke duniya chal hi nhi sakta. Agar humare pas Computer nhi hote toh hum kabhi bhi Digitally itna aage nhi badh pate hai, jitna digital hum aaj ke time me hai. Agar aaj se sabhi computer ko band kar diya jay toh hum sab 100 saal piche chale jayega, mere kehne ka matlab yeh hai ki aaj se 100 saal pehle jis tarah kam hota tha usee tarike se hume kam karna hoga.

Aap sab logo se mera ek savaal hai- computer ne aapko itna kuch diya hai lekin aap computer ke bare me kitna jante hai. Kya aap Computer ka full form bata payenge, computer ka avishkar kisne kiyaभारत में कंप्यूटर कब आया. Agar aap computer se related in sabhi savaal ka jawaab janna chahte ho, i mean computer full name janna chahte ho toh niche bataya gaya hai.

Computer Full Form in Hindi –  कंप्यूटर फुल फॉर्म

Is Computer shabd me total 8 character hai aur sabhi character ke alag alag matlab aur meaning hai. Computer full form & Computer Meaning

C Commonly
O Operated
M Machine
P Particularly
U Used for
T Technology
E Education
R Research

 

Computer meaning in hindi me hota hai – आमतौर पर प्रौद्योगिकी शिक्षा अनुसंधान के लिए विशेष रूप से प्रयुक्त मशीन संचालित

Computer ek electronic device hai, jo hamare bade se bade complicated kam ko bahut hi asani kar leta hai. Jis kam ko karne me hume 1 hours se bhi jada ka time lagta hai woh kam computer kuch hi minute me kar deta hai. Also read- Gps Kya Hai, Gps Kam Kaise Karta Hai.

  • computer ka avishkar kisne kiya – Charles Babbage
  • कंप्यूटर फुल फॉर्म – 1822
  • भारत में कंप्यूटर कब आया – 1995

Is article me aapko maine Computer ka full form kya hai iske bare me bataya hai. Agar aapko kisi aor chiz ke bare me janna hai toh niche comment karke bata sakte ho. Is article ko padhne ke liye bahut bahut Dhanyawad.

Also Read- UPS Full Form in Hindi